इंटरनेट क्या है?- इंटरनेट से लाभ और हानि

इंटरनेट क्या है, “Internet” इस शब्द को अपने कई बार सुना ही होगा और आप इंटरनेट का इस्तेमाल भी करते हो होगे आज के तकनीकी युग में इन्टरनेट से ही अधिकतर छोटे से लेकर बड़े कार्य किए जा रहे है आधुनिक युग को इंटरनेट का युग भी कहा जाता है इंटरनेट का विकास मनुष्य के लिए कामों को आसान बना रहा है इस आधुनिक युग में इंटरनेट अगर पूरी तरह से बंद कर दिया जाए तो बहुत सारे काम अटक जायेगे परंतु घबराइए नहीं ऐसा नहीं होगा। 

क्या आप जानते है “इंटरनेट क्या है?- इंटरनेट से लाभ और हानि ” इसका आविष्कार कब और कैसे हुआ और किसने किया internet के क्या फायदे और नुकसान हो सकते है इंटरनेट वर्क कैसे करता है? अगर आप इन सभी सवालों के जवाब और इन्टरनेट के बारे में अच्छी तरह जानना चाहते हो तो इस आर्टिकल को अंत तक पड़े।

इंटरनेट क्या है?

(What is internet in hindi)

इंटरनेट, जिसे कभी-कभी केवल “नेट” कहा जाता है, कंप्यूटर नेटवर्क की एक विश्वव्यापी (विश्व में व्याप्त, globle) प्रणाली है – नेटवर्क का एक नेटवर्क जिसमें उपयोगकर्ता (User) किसी एक कंप्यूटर पर, यदि उनके पास अनुमति है, तो किसी अन्य कंप्यूटर से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं (और कभी-कभी सीधे बात कर सकते हैं  अन्य कंप्यूटरों पर उपयोगकर्ता)। 

Internet Kya Hai In Hindi

अर्थत जहा बहुत सारे कंप्यूटर एक साथ जुड़कर काम करते है उसे इंटरनेट कहते है इंटरनेट सभी कंप्यूटर को आपस में जोड़ रखने का कार्य करता है यह किसी संस्था वा सरकार के कंट्रोल मे नही होता किसी एक व्यक्ति के पास इंटरनेट का पूरा अधिकार नहीं होता बल्कि ये तो बहुत सारे कंप्यूटर और सर्वर को कनेक्ट होने से बनता है

इसकी कल्पना 1969 में अमेरिकी सरकार की Advanced Research Projects Agency (ARPA) द्वारा की गई थी और इसे पहले “ARPANET” के नाम से जाना जाता था।  मूल उद्देश्य एक ऐसा नेटवर्क बनाना था जो एक विश्वविद्यालय (University) में एक शोध कंप्यूटर के उपयोगकर्ताओं (users) को अन्य विश्वविद्यालयों के शोध कंप्यूटरों से “बात”(communication) करने की अनुमति दे।  ARPANet के डिजाइन का एक साइड बेनिफिट यह था कि, क्योंकि संदेशों को एक से अधिक दिशाओं में रूट या रीरूट किया जा सकता था, नेटवर्क काम करना जारी रख सकता था, भले ही सैन्य हमले या अन्य आपदा की स्थिति में इसके कुछ हिस्से नष्ट हो गए हों।

इंटरनेट काम कैसे करता है ?

How the Internet works

अपने कभी सोचा है इंटरनेट काम कैसे करता है ? कैसे किसी को कभी जायदा स्पीड मिलती है और किसी को कभी काम स्पीड मिलती है। इंडिया को मिलाके पूरा वर्ल्ड इंटरनेट से कनेक्टेड है पर अपने ये नही सोचा होगा के ये इंटरनेट आखिर चलता कैसे है आपको लगता होगा सैटेलाइट से चलता होगा पर आपको शायद नही पता होगा कि 99% इंटरनेट समुंद्र में बिछी ऑप्टिक फाइबर केबल से चलता है।

तो आप सोच रहे होगे की में तो मोबाइल से इंटरनेट चलता हु तो मोबाइल में कहा केबल लगी हुई है तो उसका सामान्य उत्तर यह है की आपके मोबाइल में जिस भी टावर से सिग्नल आता है वहा टावर ऑप्टिक फाइबर केबल से जुड़ा होता है।

तो दोस्त आपतक इंटरनेट आते आते 3 अलग अलग कंपनियों के थ्रो उसे गुजरना पड़ता है 

1 टियर वन कंपनियां – ये वो कंपनियां होती जिसने समुद्र के अंदर अपनी केबल बिछा कर रखी होती है।

वैसे इंटरनेट पूरा फ्री होता है पर इन्ही केबल को बिछाने में और मेंटेनेंस करने में को खर्चा आता है वहा यूजर से लिया जाता है https://www.submarinecablemap.com/ इस वेबसाइट पर आप देख सकते हो की समुंद्र में यह केबल कैसे फैली हुई हैं

2. टियर टू कम्पनी – ये कंपनिया टियर वन कंपनी से जुड़ी होती है जैसे Jio Airtel Idea ये सभी टियर 2 कंपनिया है जिन्होंने ऑप्टिक फाइबर केबल इंडिया में बिछा रखी है

3. टियर थ्री कंपनी – वहा कंपनी जो टियर 2 कंपनी से जुड़ कर इंटरनेट यूजर के पास पहुंचती है अधिकतर कैसे में टियर 2 कंपनिया ही टियर 3 कम्पनी बन जाती है।

भौतिक रूप से, इंटरनेट वर्तमान में मौजूदा सार्वजनिक दूरसंचार नेटवर्क के कुल संसाधनों के एक हिस्से का उपयोग करता है।  तकनीकी रूप से, जो इंटरनेट को अलग करता है वह है ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल/इंटरनेट प्रोटोकॉल (TCP/IP) नामक प्रोटोकॉल के एक सेट का उपयोग।  इंटरनेट प्रौद्योगिकी के दो हालिया अनुकूलन, इंट्रानेट और एक्स्ट्रानेट भी TCP/IP प्रोटोकॉल का उपयोग करते हैं।

 इंटरनेट को दो प्रमुख घटकों के रूप में देखा जा सकता है: नेटवर्क प्रोटोकॉल और हार्डवेयर प्रोटोकॉल, जैसे कि TCP/IP सूट, नियमों के वर्तमान सेट हैं जिनका उपकरणों को कार्यों को पूरा करने के लिए पालन करना चाहिए।  नियमों के इस सामान्य संग्रह के बिना, मशीनें संचार करने में सक्षम नहीं होंगी।

इंटरनेट के उपयोग

Uses of the internet in Hindi

सामान्य तौर पर, इंटरनेट का उपयोग बड़ी या छोटी दूरी पर संचार (communication) करने, दुनिया के किसी भी स्थान से जानकारी साझा (share) करने और लगभग किसी भी प्रश्न के उत्तर या जानकारी को कुछ ही पलों में एक्सेस करने के लिए किया जा सकता है।

 इंटरनेट का उपयोग कैसे किया जाता है, इसके कुछ विशिष्ट उदाहरणों में शामिल हैं:

  • Social media और content sharing में
  • संचार में और ईमेल भेजने में चैट करने में वीडियो कांफ्रेंसिंग करने में
  • Education में और सेल्फ इंप्रूवमेंट करने में और सीखने में
  • जॉब्स सर्च करने में और अपनी स्किल्स का यूज करके erning कराने में
  • रिसर्च करने में
  • ऑनलाइन शॉपिंग करने में या अपना प्रोडक्ट सेल करना बहुत अधिक नए कोस्टमर्स से जुड़ने में
  • न्यूज और ज्ञान प्राप्त करने में
  • एंटरटेनमेंट प्राप्त करने में गेम खेलने में
  • लोगो से दूर बैठे कनेक्ट होने में

इंटरनेट का इतिहास और अविष्कार

History of the Internet

ARPANet, इंटरनेट का predecessor, पहली बार 1969 में deployed किया गया था। 1983 में, ARPANet ने TCP/IP ओपन नेटवर्किंग प्रोटोकॉल suite का उपयोग करने के लिए संक्रमण किया और 1985 में, नेशनल साइंस फाउंडेशन नेटवर्क (NSFN) ने विश्वविद्यालय के कंप्यूटर को जोड़ने के लिए नेटवर्क को डिज़ाइन किया।

 1989 में जब हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (HTTP) बनाया गया, तो इंटरनेट पर संचार में बहुत सुधार हुआ, जिससे विभिन्न कंप्यूटर प्लेटफॉर्म को एक ही इंटरनेट साइटों से जुड़ने की क्षमता मिली।  1993 में, मोज़ेक वेब ब्राउज़र बनाया गया था।

 इंटरनेट अपने अस्तित्व के वर्षों में विकसित और विकसित होता रहा है।  उदाहरण के लिए, IPv6 को उपलब्ध IP address  की संख्या में भविष्य में बड़े पैमाने पर विस्तार का अनुमान लगाने के लिए डिज़ाइन किया गया था।  संबंधित विकास में, IoT एक बढ़ता हुआ वातावरण है जिसमें लगभग किसी भी इकाई या वस्तु को एक विशिष्ट पहचानकर्ता (UID) और इंटरनेट पर डेटा को स्वचालित रूप से स्थानांतरित करने की क्षमता प्रदान की जा सकती है।

इंटरनेट से लाभ

Benefits of the Internet

  • अनंत जानकारी, ज्ञान और शिक्षा तक पहुंच।
  • संवाद (communicate) करने, जुड़ने (connect)  और साझा (share) करने की क्षमता में वृद्धि।
  • घर से काम करने, सहयोग करने और वैश्विक कार्यबल तक पहुंचने की क्षमता।
  • अपने व्यवसाय को अधिक उपभोक्ताओं तक पहुंचने में आसानी
  • इंटरनेट के माध्यम से पैसे कमाना
  • Movies, music, video games से इंटरटेनमेंट प्राप्त करना
  • Neo का बहुत सारे लोगो तक पहुंचना वा मिलकर लोगो की मदद करना या किसी संदेश का पहुंचना
  • न्यूज वा खबरों का जल्द से जल्द एक एक्सेस करना
  • क्लाउड स्टोरेज पर जरूरी file को सेव करना वा आसानी के साथ शेयर करना
  • इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करना
  • बिजली पानी रिचार्ज आदि इंटरनेट बैंकिंग की सहायता से करना

इंटरनेट से हानि

जैसा कि हम जानते है की इंटरनेट के कई सारे फायदे है और आधुनिक युग की कल्पना बिना इंटरनेट के नही की जा सकते परंतु हर सिक्के के दो पहलू होते है हर चीज का अधिक उपयोग करने से वहा नुकसानदायक बन जाता है वा हानि पहुंचाता है ऐसा ही इंटरनेट के साथ है इसका सही से इस्तेमाल न करने से इससे कई हानिया भी हो सकती है।

इंटरनेट से होने वाली हानिया में एक हानि है इंटरनेट का एडिक्शन इसमें व्यक्ति इंटरनेट का आदि हो जाता है और वहा दिन भर इंटरनेट पर ही अपना टाइम पास करता रहता है जिससे वहा बाकी काम में ध्यान नहीं लगा पता और अपने समय को बरबाद करता चला जाता है। इंटरनेट जायदा उसे करने से एक ही जगह पर रहकर कंप्यूटर या मोबाइल कई घंटो तक लगातार चलने से कई शारीरिक वा मानसिक हानि होती है इसका आंखो पर भी बहुत दुष्प्रभाव देखने को मिलता है।

आज कल युवा इंटरनेट की वजह से अपना अधिकतर समय बरबाद कर देते है वहा चाहे तो उससे कुछ सीख भी सकते है।

अधिक सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने से व्यक्ति समाज से दूर रहने लगता है जिससे उसे long term में कई दिक्कतों का सामना करना पढ़ता है

इंटरनेट पर अपने आप को सुरक्षित कैसे रखा जा सकता है?

आजकल इंटरनेट से हम पूरी तरह से जुड़े हुए हैं ऐसे में क्या हम सुरक्षित है यहां सुनिश्चित करना आवश्यक है हमारे बैंकिंग के संबंधित कार्य भी आजकल इंटरनेट द्वारा होने लगे हैं इस कारण से हमें इंटरनेट ठगी से बचना बहुत ही आवश्यक हो गया है एवं हमारा डाटा बहुत ही महत्वपूर्ण है हमारे मोबाइल में उपस्थित सभी प्रकार का डाटा चोरी होने से बचाना यहां में सुनिश्चित करना चाहिए ऐसे में आपको साइबर ठगी से बचना आना चाहिए आप इंटरनेट इस्तेमाल करते हुए क्या क्या सावधानियां रख सकते हैं इसे हम आपको बता रहे हैं जिससे आपकी निजी जानकारी सुरक्षित रहे तथा आप साइबर ठगी से बचकर रह सके

  • किसी को भी ना “OTP” ना बताएं
  • कोई भी अनजान लिंक पर क्लिक ना करें
  • अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड की डिटेल कोई भी थर्ड पार्टी वेबसाइट पर ना डालें
  • Public Wi-Fi का उपयोग कम से कम करें या उसे VPN लगाकर यूज़ करें
  • किसी के साथ भी अपने कार्ड की डिटेल शेयर ना करें
  • अपने पासवर्ड को मजबूत रखें जिसमें शब्द संख्या व स्पेशल कैरेक्टर होना चाहिए जैसे #@65Apwv
  • अपने पासवर्ड को कम से कम 8 अंकों का रखें
  • अपने लॉगइन आईडी या पासवर्ड या कार्ड की डिटेल डालने से पहले एक बार वेबसाइट का यूआरएल चेक कर ले
  • अपने मोबाइल में लॉक डाल कर रखें
  • Play Store वा App store को छोड़कर अन्य किसी थर्ड पार्टी से APK डाउनलोड करने से बचें

इन सभी चीजों का ध्यान रख अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करेंगे तो आप सुरक्षित रहेंगे इसके अलावा आप साइबर सुरक्षा से जुडी न्यूज़ पढ़ते रहिए ताकि आप नए Scam से बचे रह सके क्योकी आज कल साइबर ठग नए नए तरीके निकल कर लोगो के साथ scam करते है इसलिए अपने आप को up to date रखना जरूरी है

आशा है आपको इंटरनेट के बारे में जानकारी हमारे ब्लॉग “इंटरनेट क्या है?- इंटरनेट से लाभ और हानि” के माध्यम से अच्छी लगी हो आपका कोई भी सवाल हो तो कमेंट सेक्शन में टाइप करके जरूर बताएं इसका जवाब जरूर मिलेगा

Read More At : inhindiii.com

3 Comments

  1. […] हमने आपको उपर इतने सारे इस Nearby Share feature के फायदे भी बताए तो को कोई बाहरी एप्लीकेशन को छोड़कर इसका इस्तेमाल करना चाहिए जो की लगभग सभी एंड्रॉयड डिवाइस में इनबिल्ड आता है।यहाँ भी पड़े :- इंटरनेट क्या है? […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *