भारत में पैसा कहां छपता है? और कैसे छपते है

हेलो रीडर्स आज हम आपको इस आर्टिकल में भारत में पैसा कहां छपता है और पैसे कैसे छपते है या बनाए जाते है भारत में पैसे कैसे बनाए जाते है और भी कई सारे सवालों का हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको उत्तर उपलब्ध कराए आपको bharat में paisa kaha chhapta hai या इंडियन करेंसी के बारे में और भी बहुत कुछ जानकारी देगे जो की अपने शायद पहले न सुनी हो क्या आप जानते है कोन सा नोट छापने में कितना खर्चा आता है?

इस आर्टिकल में हम भारत में पैसे से जुड़े कई सारे फैक्ट्स और जानकारियां देगे आपको भारत में स्थित नोट के कारखानों यानी की जहा पैसे छापे जाते है उसके बारे में जानकारी देगे आप इस ब्लॉग को पूरा पड़े ताकि आपको से सभी जानकारियां मिल सके वा अच्छे से समझ में भी आ सके।

Indian Currency Printing In Hindi

आजकल के जीवन में पैसा बहुत ही महत्पूर्ण है वैसे देखा जाए तो ये सिर्फ कागज का टुकड़ा है है परंतु पैसे की बहुत अहमियत है आज कल पैसे के बिना जीवन यापन करने का कोई सोच भी नही सकता पैसों से ही सभी जरुरते पूरी होती है तो आपको इसके बारे में जानकारी हो तो अच्छा ही रहेगा।

कोन सा नोट छापने में कितना खर्चा आता है?

नोट या पैसे बनने की प्रोसेस में कागज मशीन और उसकी सुरक्षा बदने के लिए उसमे लगाए गए अन्य चीज वा डिजाइन इनसभी को मिलाकर एक नोट को तैयार किया जाता है जिसमे लागत लगती है वो लागत सभी नोट की अलग अलग हो सकती है जिसे – 

2000 के नोट को बनने में 4₹ लगते है।

500 के नोट को छापने में 2.65₹ का खर्चा आता है।

200 के नोट पर 2.48₹ का खर्च आता है।

100 के नोट पर 1.51₹ का खर्च हो जाता है।

50 के लिए 1.22₹ का खर्च

और 10 और 20 के नोट के लिए ओसातन 1₹ का खर्च आता है।

पैसे का पेपर कहा तैयार किया जाता है?

नोट छापने के लिए इसमें सबसे important चीज पेपर ही है जिसपर नोट की छपाई होती पैसे का पेपर जयदतर दुनिया के 4 देशों में तैयार किया जाता है इन देशों मे पेपर बनने की आधुनिक मौजूद है जिसमे अमेरिका का पोर्टल 2. फ्रांस का अर्जो विगिज 3. स्वीडन 4. लुसेंत्ल पेपर फेबरिक सम्मिलित है।

भारत देश में पैसा छापने की मशीने कहा है

सरकारी स्वामित्व वाली प्रेस नासिक (पश्चिमी भारत) और देवास (मध्य भारत) में हैं।  अन्य दो प्रेस मैसूर (दक्षिणी भारत) और सालबोनी (पूर्वी भारत) में हैं।  सिक्के भारत सरकार के स्वामित्व वाली चार टकसालों में ढाले जाते हैं।  टकसाल मुंबई, हैदराबाद, कलकत्ता और नोएडा में स्थित हैं। इन्ही स्थानों पर भारत में पैसा छापा जाता है।

पैसे कैसे छपते है

पैसे कैसे छपते है इस सवाल का वैसे तो कोई एक सटीक जवाब नहीं दे सकता किओकी नोट की सुरक्षा बनाए रखने के लिए RBI पैसे छापने के प्रॉसेस को गुप्त रखती है वा समय समय पर बदलती रहती है।

भारत में पैसे छापने के लिए सबसे पहले RBI पैसों की जरूरत के हिसाब से पैसे जहा छापे जाते है वहा निर्देश पहुंचती है पैसे छापने की मशीन कंप्यूटर से कनेक्ट होती है इसे नोट की डिजाइन का ब्लूप्रिंट रहता है मशीन में अलग अलग तरह की इंक को डाला जाता है वा एक स्पेशल पेपर पर इसको स्पेशल तरीके से प्रिंट किया जाता है।

Read More

खराब नोटो का क्या किया जाता है।

मशीन द्वारा त्रुटि से उत्पन्न खराब नोट या फटे हुए नोट को बैंक मुख्य कार्यालय भेज देती है वहा पर उन नोटो को डिस्ट्रॉय कर उतने ही नए नोट बना लिए जाते है तथा डिस्ट्रॉय हुए नोट के वेस्ट को रिसाइकल कर लिया जाता है।

पैसे हम तक कैसे पहुचते है

पैसे प्रिंट होने के बाद RBI भारतीय रिजर्व बैंक के ऑफिस में भेज दिया जाता है RBI ke भारत में 18 ऑफिस उपलब्ध है वहा से पैसे को जरूरत के हिसाब से बैंक तक सिक्योरिट के साथ पहुंचा दिया जाता है।

भारत में पैसे पर कंट्रोल किसका है?

भारत में RBI यानी भारतीय रिजर्व बैंक ही पैसे या करंसी का मैनेजमेंट संभालती है भारतीय रिजर्व बैंक देश की स्थिति वा Gdp को देखकर ही यह डिसीजन लेती है की कितने पैसे प्रिंट करना है ।

तो फिर RBI बहुत सारे पैसे क्यों नहीं छाप देती।

ये सवाल तो इतना सब जानकर आपके मन में आया ही होगा की जान अपने ही देश में पैसा प्रिंट हो रहा है तो इससे बहुत सारा पैसा प्रिंट करके पैसे से जुड़ी सभी समस्या का समाधान RBI क्यों नहीं कर देता। परंतु ऐसा संभव नहीं है क्योंकि अगर RBI बहुत सारा पैसा छाप दे तो स्थितियां बहुत ही गंभीर हो सकती है रुपए का दाम घट जाएगा इस में अगर आरबीआई बहुत सारे पैसे छाप दे तो ऐसा भी हो सकता है की आपको सब्जी लेने के लिए भी एक झोला भरकर पैसे ले जाने पड़े।

Conclusion

आपको पैसे के छापने से रिलेटेड जानकारी मिल ही गई होगी अगर आपका कोई सवाल इसमें रह गया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है पैसे का टॉपिक बहुत ही एक इंट्रेस्टिंग टॉपिक है क्योकि ये हमारे जीवन से जुड़ी एक महत्वपूर्ण कड़ी है इसके बिना हमारे सारे काम रुक से जाते है अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा तो कमेंट में आपका फीडबैक जरूर शेयर करे।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *