goverment internet kese band karti h – सरकार इंटरनेट बंद कैसे और क्यो करती है

How government ban internet service in India 


आपने कई बार देखा होगा या सुना होगा कि सरकार ने किसी एक जगह पर इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया है तो क्या आप जानते हैं ऐसा सरकार क्यों करती है और ऐसा कैसे करती है तो आज इस ब्लॉग पोस्ट में आपको बताएंगे की सरकार आखिर इंटरनेट बैन कैसे करती है ? 


आजकल के आधुनिक युग में इंटरनेट एक जरूरी आवश्यकता बन गई है जिसका उपयोग लगभग हर जगह किया जाता है बिना इंटरनेट के काफी कम अटक से जाते है इस इंटरनेट को इस्तेमाल करते करते हम इतने आदि हो गए है की अगर हमे 5 मिनट इंटरनेट ना मिले तो हमको लगता है हम बीमार हो चुके है।


इंटरनेट कहां और कितनी बार बंद (shutdown) किया गया

 

Digital rights advocacy group Access Now की रिपोर्ट के अनुसार भारत ने 2021 में तकरीबन 101 बार इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाया।

2021 में वैश्विक स्तर पर 182 बार इंटरनेट बंद करने की सूचना मिली थी जिसमे से भारत में 101 बार इंटरनेट शट डाउन हुआ जिसमे 84 जम्मू और कश्मीर में हुए थे।

भारत के बाद, 2021 में पंद्रह बार इंटरनेट अवरुद्ध करने के लिए म्यांमार दूसरे स्थान पर है, इसके बाद ईरान और सूडान पांच ऐसी घटनाओं के साथ दूसरे स्थान पर हैं।

भारत में इंटरनेट शटडाउन के आंकड़े

  1. 2012 में 3 बार

  2. 2013 में 5 बार

  3. 2014 में 6 बार

  4. 2015 में 14 बार

  5. 2016 में 31 बार

  6. 2017 में 79 बार

  7. 2018 में 135 बार

  8. 2019 में 109 बार

  9. 2020 में 132 बार

  10. 2021 में 101 बार

  11. 2022 में 60 बार – (jul 8 तक)


टोटल मिला कर भारत में अभी तक 674 बार इंटरनेट को बैन किया गया है जिसमे सबसे अधिक Jammu and Kashmir में 441 बार इंटरनेट की सेवाओं को बंद किया गया है 

नीचे दिए गए फोटो में आप देख सकते हैं कि भारत के कौन से राज्य में अभी तक कितनी बार इंटरनेट की सेवाओं को बंद किया गया है


नोट – ये अकड़े internetshutdowns.in के अनुसार है आपको और भी डिटेल्स में ये अकड़े जानना हो तो आप इस वेबसाइट पर देख सकते है।


अभी तक का सबसे लंबा चलने वाला इंटरनेट शटडाउन कहां पर लगाया गया तथा वहां कितने समय तक चला ?

आपको जानकर हैरानी होगी की दुनिया का सबसे लंबा चलने वाला इंटरनेट शटडाउन भारत में ही लगाया गया था और वह भी हाल ही में यहां शट डाउन भारत के राज्य जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्से में में लगाया गया था यहां टोटल 552 दिन तक चला था यह पर 4 अगस्त 2019 से लेकर 6 February 2021 तक इंटरनेट पर प्रतिबंध लगा दिया गया था इसमें काफी समय तक संचार सेवाओं में लैडलाइन वा मोबाइल कॉल्स पर भी प्रतिबंध लगा।

यहां प्रतिबंध गलत सूचनाओं को फैलने से रोकने व शांति का माहौल बनाए रखने के लिए लगाया गया था वह कुछ समय बाद इसमें बीच-बीच में 2G सेवा चालू भी कर दी गई थी परंतु 4जी सेवाएं 552 दिन के पश्चात चालू की गई।


“कई देशों के अधिकारियों ने आलोचकों को चुप कराने और असंतोष को दबाने के पारदर्शी प्रयासों में शटडाउन लगाया और गलत सूचनाओं को फैलने से रोकने के लिए अन्य लोगों ने चुनाव के दौरान सूचना के प्रवाह को नियंत्रित करने और तख्तापलट सहित सक्रिय संघर्ष और युद्ध को नियंत्रित करने के लिए शटडाउन किया।”


तो अपने जान ही लिया होगा की बाकी देशों की तुलना में सबसे ज्यादा इंटरनेट shutdown भारत में ही देखे जाते है भारत इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाने में सबसे उपर आता है ऐसे में आपका ये भी जानना जरूरी है की भारत में इंटरनेट पर Ban या प्रतिबंध कैसे लगाया जाता है और क्यों लगाया जाता है और किस धारा का उपयोग किया जाता है इंटरनेट को किसी area में बंद करने के लिए तो आगे पड़ते रहिए आपको ये सभी जानकारी मिलेगी


इंटरनेट बंद क्यों किया जाता है

किसी एरिया में होने वाले प्रोटेस्ट का बड जाना या fake news फैलने की संभावना की इस्थिति में लोगो की सुरक्षा वा शांति बनाए रखने के लिए या किसी और सुरक्षा रीजन के कारण के तहत इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाया जाता है

किस कानून से इंटरनेट को शट डाउन किया जाता है?

क्या आप जानते है आखिर वो कोन सा law या rule जिसका उपयोग सरकार इंटरनेट पर बैन लगाने में करती है तो भारत में कुल 3 कानून धाराएं है जिसके तहत इंटरनेट को किसी एरिया में टेंपरेरी शट डाउन किया जा सकता है।

  1. Section 144 इसके तहत अगर सरकार को लगता है की अफवाहें फैलने वाली है या कुछ बड़ा होने वाला है तो इसमें सरकार इंटरनेट बंद कर सकती है

  2. Temporary suspension of telecom services Act 2017 ये act 2017 में बनाया गया था इसमें भी वही है की कोई अफवाह न फैले वा कोई मिसगाइड चीज न हो लोग भड़क ना जाए ऐसी स्थिति में सरकार इसको लागू करती है

  3. The Indian Telegraph Act public interest के लिए और गलत अफवाओं को फैलने से रोकने के लिए इस rule का उपयोग कर सरकार इंटरनेट पर प्रतिबंध लगा सकती है

सरकार इंटरनेट बंद कैसे करती है

इंटरनेट दो तरीकों से बंद होता है एक तो Central लेवल पर हो सकता हैं या state लेवल पर हो सकता है यह पर  ministry of Home affairs के पास अधिकार है इनमे से किसी भी एक rule को यूज करके एक नोटिस जारी कर सकता है वहा नोटिस एक रिव्यू कम्युनिटी के पास जायेगा रिव्यू कम्युनिटी के नोटिस को अप्रूव करने के बाद वो सीधे जाता है ISP (internet service provider) के पास और ISP यानी Jio Airtel Idea वगैरा उस एरिया में इंटरनेट को शटडाउन कर देती है 

आपको ये भी जानना चाहिए – इंटरनेट क्या है और यह काम कैसे करता है ?


आशा है की आपको पता लग गया होगा इंटरनेट बंद क्यों होता है। वा सरकार इंटरनेट कैसे बंद करती है। इंटरनेट कितनी बार इंडिया में अभी तक बंद किया जा चुका है। आपका और कोई सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में जरूरी बताइए उसका जवाब जल्द से जल्द मिलेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.